Thursday, December 2, 2021
Homeमधय प्रदेशपीडब्ल्यूडी की इलेक्ट्रॉनिक शाखा का: नियम ई-र का, इसके बाद जारी हो...

पीडब्ल्यूडी की इलेक्ट्रॉनिक शाखा का: नियम ई-र का, इसके बाद जारी हो रहा है हाइट के वर्कआर्डर


भोपाल37 पहली

  • लिंक लिंक

यह बिजली की क्रिया करने वाली काॅलेंसी है, जो बिजली के प्रभाव में है।

पीडब्लूडी में छोटे से छोटे से काम करने के लिए ई-र की खेती के लिए, राजधानी क्षेत्र के ईएंडएम (विद्युत मशीनी) वाइट में निम्न प्रकार से काम करता है। इसे ‘सब वर्क’ कहा जा रहा है। यह पैसा जोनल भाग का है।

दरअसल पीडब्ल्यूडी में जोन के हिसाब से मेंटेनेंस की राशि रखने का प्रावधान है। 25 लाख करोड़ रुपए जुटाए हैं। इसके बाद यदि 3-4 लाख रुपए से लेकर बड़ी राशि के काम होना है तो इसका वर्क ऑर्डर बिना टेंडर ही जारी किया जा रहा है।

ताजा मामला नियंत्रण नियंत्रण बोर्ड के काम का है। बोनस 47 लाख 66 हजार 500 का वर्ग जारी किया। यह पैसा जोनल वर्क का था। कामयाबी में वृद्धि हुई है।

विभाग के ब्लॉग का कहना है कि जोनल पार्ट की तरह इस प्रकार है कि अक्टूबर 2021 में दिशा-निर्देश बनाए गए हों, जैसा कि इस तरह से तैयार किया गया है। Movie महाप्रबंध रोग से संबंधित हैं।

इन कामों के लिए झंझट उत्पन्न हुआ

  • 47.66 लाख: इम्प्रूवमेंट कंट्रोल बोर्ड की गुणवत्ता में सुधार होता है। मास्क का आर्डर खराब हो गया है।
  • 66.73 लाख : उच्च गुणवत्ता वाले, उच्च गुणवत्ता वाले प्रकाश स्टेशन (सब स्टेशन), वायु प्रदूषण के काम के काम जारी।
  • 19.95 लाख : आयदस्थ बैठने के लिए उपयुक्त बैठने के लिए.
  • 4.97 लाख और 4.53: बी और डी टाइप अलग-अलग-अलग अलग-अलग इलेक्ट्रानिक से खतरनाक कामों के लिए काम करता है।
  • 3.65 लाख का काम पशुपालन में और 4.50 लाख लाख के काम राजभवन में काम करते हैं।

जोनल पार्ट–पूरा तापमान क्षेत्र, दूसरा-श्यामला हल्स, राजभवन, 45 और 74 ब्लेंकले, एक कॉलन, वन क्यू, है-एम) में शिवाजी नगर, तुलसी नगर, सिक्स संकेतक, 1250 और पॉल्यूशन ल्युशन्स, सिनक्सर, 1250 केजी का। चौथा-ईमली (कर्मशाला) में 1100 वर्णा तक का।

पहले पांच करोड़ का दोष था

तीन साल से पहले ब्रेक करने से पहले. घटाकर 25 लाख कर दिया गया। वह अपने कॉल सेन्टर थाने था। शासकीय भवनों में रहने वाले इसी कॉल सेंटर पर अपनी शिकायत दर्ज कराते थे।

कंट्रोलिंग ज़ोन के काम करने के लिए टेस्ट करें करा

️ यदि️ यदि️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ सिस्टम के लिए भी प्रो. काम से. छोटे-छोटे कामों में भी ऐसा ही होगा। अधिकतम लाख मस्के का कहना है कि 47 का काम और वह है I
एग्जीव, ई

काम की जगह
जो भी काम करता है वह काम करता है। सब प्रक्रिया के तहत किया जा रहा है।
प्रेसीडेंसी, ईई, ई एंड एम वाइट एक

खबरें और भी…

.



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments