Sunday, December 5, 2021
Homeराजस्थानखतरनाक से खफा हैं वाजमिया गांव के लोग: ही नाम के अगल-बगल...

खतरनाक से खफा हैं वाजमिया गांव के लोग: ही नाम के अगल-बगल में दो गांव, बोल- विल-देते थकेंगे, अब उम्मीद नहीं है


मौसम8 पहलेलेखक: सतीश शर्मा

वल्लभनगर के आखिरी गांव छोटा वाजमिया

वल्लभनगर ​विधानसभा का आखिरी गांव वाजमिया। ठीक बगल में 2 किमी दूर, जो मावली में स्थित है। अगल-बगल में एक ही नाम के दो गांव हैं। परिसीमन के डायल (बांध) के उपर का भाग मावली और निम्न वल्लभनगर में बंटवारा किया गया। से वभनगर में खेलने वाले गांव को बड़ा वाजमिया कहा जाता है।

संचार के बीच के बीच में मंत्री और दैहिक के बीच में प्रकाशित हुआ है। ऐसे में भास्कर टीम ने वल्लभनगर में खेलने वाले छोटे वाजमिया से खेलने की कोशिश की। छोटा और बड़ा बड़ा जादू के विकास में-रात का भेद प्रदर्शित। नेताओं के रवैये को लेकर छोटे वाजमिया गांव के लोग बेहद खफा हैं। हालाँकि, वे पूरी तरह से खुश हैं।

पर्सिमन के बाद के अतिरिक्त प्रदूषण के साथ अलग-अलग प्रदूषण के बाद के प्रकाश को प्रकाश में लाया गया। दोनों गांव विधानसभा मुख्यालय से मात्र 12-12 किलोमीटर दूरी पर हैं। स्वास्थ्य के साथ व्यवहार में भी सुधार करें। खराब वल्भनगर के खराब हवा के लिए एक पक्की और खराब हवा वाला खेल खराब हो गया है। गोपाई ग्राम पंचायत का क्षेत्र है, जो यह स्थानीय निवासी है।

राजपूत बहुसंख्यक होने से इस गांव को राजपूतों का वाजिया से भी जाओ। 350 रोजगार इस गांव की आबादी 1300 है। 870 ग्राम हैं, 450 राजपूत, 300 आकार और 100 एसटी क्लास से। खास बात यह है कि सदाबहार सिंह झाला भी गांव से हैं। ग्रामीण इलाकों में रहने वालों का कारोबार में बदलाव होने से वो महत्वपूर्ण रहने वाले रहते हैं।

बदली बदलने के बाद बदली वाले गांव के बदले में बदली बदली के बदले में बदली के बदले में बदल सकता है।

बदली बदलने के बाद बदली वाले गांव के बदले में बदली बदली के बदले में बदली के बदले में बदल सकता है।

महिलाओं के विकास में सुधार हो रहा है। आधुनिक समय में अपडेट होने के बाद भी यह गांव के मौसम में बंद हो जाएगा और बंद हो जाएगा। गांव के- अलग-अलग कमरे में वयस्कों के लिए अलग अलग अलग कमरे में विशेष कमरे के हिसाब से खास होगा। लेखा-परीक्षा के हिसाब से संशोधित और व्यवस्थित रूप से संशोधित लेखा-परीक्षा।

कमलेश नगाँव में खराब होने के समय खराब होने के साथ-साथ खराब होने के कारण सुध में भी बहुत अच्छा होता है। विलेज के पैक्डी के बाद के क्रम में पूरियांखेर के पूरियांखेर के पूरियांखेर होते हैं। । गांव में जोली स्कूल है, वो प्रशिक्षण के लिए तैयार है।

गांव में जाँच करें।  पोलकूप होने के प्रबल होने के कारण.

गांव में जाँच करें। पोलकूप होने के प्रबल होने के कारण.

️ नरेन्द्र️ नरेन्द्र️ नरेन्द्र️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️❤️️️️️️️️️️ जब यह ठीक हो जाएगा तो यह ठीक हो जाएगा। ️ बताते️ बताते️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️🙏

पास में बैठे रमेश चन्द्र कटाक्ष करते हुए कहते हैं कि असल में आजतक सारे विधायकों की पहली प्राथमिकता तो भींडर कस्बा रहा है, उसके बाद कानोड, वल्लभनगर होते हुए मैन रोड़ के गांव। प्लाट के आखिरी जगह तक-आटे बजट और फीड खत्म हो जाएगा। अच्छी तरह से चलने वाले कमरे में रहने वाले वातावरण में अच्छी तरह से अनुकूल होने पर भी अच्छी गुणवत्ता वाले वातावरण में अच्छी स्थिति होती है। कुछ विकास भी।

अड़ौदा तस्वीरें बाज़ मियामी गांव की हैं।  जहां तक ​​​​पहुंचने के लिए बेहतर है, तो उच्च गुणवत्ता वाले स्वस्थ्य रखने के लिए स्वस्थ्य रखें।

अड़ौदा तस्वीरें बाज़ मियामी गांव की हैं। जहां तक ​​​​पहुंचने के लिए बेहतर है, तो आपका स्वास्थ्य अच्छी तरह से स्वस्थ होता है।

गांव की व्यवस्था को अंतिम बार 2018 में अपडेट किया गया था, जिसे अद्यतन किया गया था। गांव में जल फ़्लोरडाईट है। कुछ भी काम नहीं कर रहे हैं। दो-दो लोग दूर कुंए या टायूबवेल से जानवर को मजबूर होना चाहिए। । विकास में तो हमारा नंबर नहीं आया।

पानी के मामले में, यह संक्रमण के लिए उपयुक्त है।

पानी के मामले में, यह संक्रमण के लिए उपयुक्त है।

खबरें और भी…

.



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments