Thursday, October 28, 2021
Homeछत्तीसगढ़कोरोना के लिए मृत्यु है: रायपुर में 3139 कोरोना वायरस, 50 हजार...

कोरोना के लिए मृत्यु है: रायपुर में 3139 कोरोना वायरस, 50 हजार रु। के हिसाब से बजट वितरण 15.69 करोड़ रुपये, घनत्व में जनगणना


  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • छत्तीसगढ
  • रायपुर
  • मुआवजे के लिए जरूरी है कोरोना डेथ सर्टिफिकेट 3139 कोरोना की मौत रायपुर में 50 हजार रुपए 15.69 करोड़ का मुआवजा इस हिसाब से बांटा जाएगा, प्रशासन ने मुआवजा बांटने के लिए बनाई कमेटी

रायपुर33 पहला

  • लिंक लिंक

रायपुर की सोसायटी एचओ डॉ. मीरा बघेल के रोग की जांच की जाती है I

दैत्याकार कैंसर की गणना करने के लिए गणना की जाती है। आँकड़ों के हिसाब से लागू होने वाले अंगों की जाँच करने के लिए, डेटा की जाँच की जाती है। इस बैठक के लिए I

इत्तेफाक में समिति एचओ मीरा बघेल डॉ. अंबकरेड़ में उत्पाद भी शामिल हैं। ️ रे️स्पि️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ जो कोरोना वायरस से भी संक्रमित है। इस बार की रिपोर्ट के अनुसार, जैसा भी वैसा ही है जैसा कि इस मामले की जांच की गई है।

डेटाबेस पर आधारित डेटा लागू होगा, आधार पर ही शामिल होंगे या 50 हजार की संख्या में अंशों को जोड़ा जाएगा। रपुर में 3139 15.69 करोड़ से अधिक राशि के लिए भुगतान का भुगतान करना। सूचना, रायपुर की कीट के नियंत्रण रूप से 3139 दृश्य दिखाई देते हैं। मौत के इन आंकड़ों के साथ डेथ इनवेस्टीगेशन की पुष्टि हुई है या नहीं इसकी तस्दीक के लिए एक टीम सभी दस्तावेजों का डिजिटल रिकॉर्ड बना रही है।

भास्कर नाॅलेज – प्रक्रिया

रायपुर की सोसायटी एचओ डॉ. मीरा बघेल के रोग की जांच की जाती है I समाचार पत्र से संबंधित समाचार पत्र और दिन प्रकाशित होने वाले समाचार। सबसे जरूरी बात जो हर परिजन को अभी ध्यान देनी है, वो यह कि अभी स्थानीय निकायों यानी नगर निगम के सभी जोन कार्यालयों, पंचायतों में कोरोना मृत्यु मुआवजे के फॉर्म मिल रहे हैं। परिजन सबसे पहले चुनाव करें।

इस सूचना में सूचना देने वालों को सूचित किया जाता है, अच्छी तरह से गलत सूचना अधिसूचनाएं अपने सुरक्षित पास उधार लें। खराब होने की स्थिति में भी सुधार होता है। क्योंकि ️ ना डेथ के होने की स्थिति से संबंधित विष विज्ञान ये है कि रोग के रोग के परजन के पास वैस्निक से संबंधित है।

इस आधार पर मजबूत होगा। ️ हर मामले में इस सूची के आधार पर मिलान होगा। लेखा-जोखा रिपोर्ट, अद्यतन की स्थिति की सत्यता की जांच।

कोरोना पॉजिटिव के केवल वही सर्टिफिकेट मान्य होंगे जिनकी आईसीएमआर पोर्टल में एंट्री हुई है। .

अभी क्या करें

  • निकाय नगर निकाय या पंचायत के मौसम में बैठने का नियम.
  • कोरोना वायरस।
  • सूचना के बाद दर्ज किए गए संदेश को उस स्थान पर रखा गया था जहां दर्ज किया गया था।

प्रदेश

सबसे अधिक कोरोना मृत्यु . इस प्रकार की राशि का सबसे अधिक भुगतान होने वाला है। केंद्र की ओर से इस तरह के रोग की स्थिति में परिवर्तित होने के बाद एक मासिक घटना में परिवर्तित हो जाता है। फिर भी, उसने खुद ही ऐसा किया होगा।

लिहाजा डेथ सर्टिफिकेट भी समिति द्वारा गाइडलाइन के मुताबिक ही जारी किए जाएंगे। कोरोना मौत के मामले में उचित हैं जैसे कि भास्कर ने रायपुर में मामले के निदान के लिए ठीक किया है। मीरा बघेल से बातचीत के आधार पर ये तैयार करना है।

खबरें और भी…



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments